Hindi

इस मानसून में गार्डनिंग की करना चाहते है शुरुआत, ये 5 पौधे है आपके लिए बेस्ट

आज के इस दुनिया में हर कोई गार्डनिंग करना चाहता है, यह शौक धीरे धीरे काफी चलन में आ गया है। लेकिन जब भी हम गार्डनिंग करने की सोचते है तो बड़ा प्रश्न यही आता है कि आखिर हमें शुरू कैसे करना है? शुरुआत में हमें कौन से पौधे खरीदने चाहिए? ऐसे में अगर आप गार्डनिंग की दुनिया में कदम रखना चाहते हैं और सोच रहे हैं कि किन पौधों से शुरुआत करें, तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है।

मानसून का मौसम जब आता है, तो धरती हरियाली की चादर ओढ़ लेती है। बारिश की बूंदें न सिर्फ मौसम को ठंडा और खुशनुमा बनाती हैं, बल्कि यह पौधों के लिए भी एक अद्भुत समय होता है। अगर आप इस मानसून में गार्डनिंग की शुरुआत करना चाहते हैं, तो यहां पांच पौधे हैं जो आपके लिए सबसे बेहतर रहेंगे: स्नेक प्लांट, तुलसी, मनी प्लांट, एलोवेरा, और पीस लिली।

1. स्नेक प्लांट (Snake Plant)

स्नेक प्लांट, जिसे ‘सास की जीभ’ भी कहा जाता है, एक बहुत ही आसान और टिकाऊ पौधा है। यह पौधा कम देखभाल के साथ भी बहुत अच्छे से बढ़ता है। इसके लम्बे, पतले और हरे पत्ते किसी भी कोने को खूबसूरत बना देते हैं।

लाभ:

  • यह पौधा हवा को शुद्ध करता है और रात के समय ऑक्सीजन छोड़ता है।
  • इसे कम पानी की आवश्यकता होती है, जो इसे मानसून के समय बहुत सुविधाजनक बनाता है।
  • इसे कम रोशनी में भी उगाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें: कटिंग से पौधे उगाने का आसान और प्रभावी तरीका: हल्दी के जादू के साथ

2. तुलसी (Basil)

तुलसी एक भारतीय घर में बहुत ही महत्वपूर्ण पौधा माना जाता है। यह न सिर्फ धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि इसके अनेक स्वास्थ्य लाभ भी हैं।


ये भी पढ़ें: बिना मिटटी के ऐसे लगा सकते हैं ये 5 वाटर इंडोर प्लांट

लाभ:

  • तुलसी के पत्तों का उपयोग आयुर्वेदिक उपचार में होता है।
  • यह पौधा हवा को शुद्ध करता है और मच्छरों को दूर रखता है।
  • इसे उगाना और देखभाल करना बहुत आसान है।

3. मनी प्लांट (Money Plant)

मनी प्लांट एक लोकप्रिय इनडोर प्लांट है जिसे लोग अक्सर अपने घर और ऑफिस में रखते हैं। इसकी लंबी, हरी लताएं किसी भी जगह को आकर्षक बना देती हैं।

लाभ:

  • मनी प्लांट हवा से विषाक्त पदार्थों को निकालता है।
  • इसे आसानी से पानी में या मिट्टी में उगाया जा सकता है।
  • यह पौधा तेजी से बढ़ता है और कम देखभाल की आवश्यकता होती है।

ये भी पढ़ें: ताजी और फ्रेश सब्जियां खाने के हैं शौकीन तो जून-जुलाई महीने में अपने गार्डन में उगाएं ये सब्जियां

4. एलोवेरा (Aloe Vera)

एलोवेरा एक बहुउपयोगी पौधा है जिसे हर किसी के घर में होना चाहिए। इसके रस का उपयोग अनेक सौंदर्य और स्वास्थ्य उत्पादों में किया जाता है।

लाभ:

  • एलोवेरा का रस त्वचा की समस्याओं और घावों के उपचार में उपयोगी है।
  • यह पौधा हवा को शुद्ध करता है और आसानी से उगाया जा सकता है।
  • इसे कम पानी की आवश्यकता होती है और यह सूखे की स्थिति में भी जीवित रहता है।

ये भी पढ़ें: बरसात में पौधों की देखभाल के सर्वोत्तम उपाय! अपने पौधों को रखें स्वस्थ और जीवित

5. पीस लिली (Peace Lily)

पीस लिली एक सुंदर और आकर्षक फूल वाला पौधा है जो आपके घर की सुंदरता को बढ़ाता है। इसके सफेद फूल किसी भी जगह को शांति और सुकून का एहसास कराते हैं।

लाभ:

  • यह पौधा हवा में मौजूद विषाक्त पदार्थों को कम करता है।
  • इसे कम रोशनी में भी उगाया जा सकता है।
  • यह पौधा नमी को बनाए रखने में मदद करता है, जिससे मानसून के मौसम में यह और भी उपयुक्त हो जाता है।

ये भी पढ़ें: न भूलें ये 4 शुभ पौधे! मनी प्लांट से भी ज्यादा लाएंगे धन और समृद्धि आपके घर

मानसून में गार्डनिंग के फायदे

मानसून का मौसम गार्डनिंग के लिए आदर्श समय होता है। बारिश की प्राकृतिक जल आपूर्ति पौधों को हरा-भरा बनाती है और उन्हें आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करती है। इसके अलावा, मानसून में मिट्टी नरम होती है, जिससे पौधों की जड़ें आसानी से फैल सकती हैं।

गार्डनिंग के टिप्स

  1. सही मिट्टी का चयन: पौधों के लिए सही मिट्टी का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है। सुनिश्चित करें कि मिट्टी अच्छी तरह से जल निकासी कर सके।
  2. पानी देने का सही तरीका: मानसून के दौरान पौधों को अधिक पानी देने की आवश्यकता नहीं होती। नियमित रूप से मिट्टी की नमी की जांच करें और तभी पानी दें जब आवश्यक हो।
  3. खाद का उपयोग: प्राकृतिक खाद का उपयोग करें। इससे पौधों को आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं और उनकी वृद्धि बेहतर होती है।
  4. कीट नियंत्रण: मानसून में कीटों की समस्या बढ़ सकती है। प्राकृतिक कीटनाशकों का उपयोग करें और पौधों की नियमित जांच करें।

मानसून का समय गार्डनिंग की शुरुआत के लिए सबसे उपयुक्त होता है। स्नेक प्लांट, तुलसी, मनी प्लांट, एलोवेरा, और पीस लिली जैसे पौधे न केवल आपके गार्डन की सुंदरता बढ़ाएंगे, बल्कि आपके घर की हवा को भी शुद्ध करेंगे। तो इस मानसून में गार्डनिंग की शुरुआत करें और प्रकृति के साथ अपने संबंध को और मजबूत बनाएं।

ये भी पढ़ें: 80 – 90 दिनों में खाए अपने गमले में उगा हुआ गाजर इस आसान से टिप्स उगाये

Recent Posts

मालामाल होने के लिए कैसे करें कंटोला (ककोड़ा) की खेती: जानिए पूरी प्रक्रिया

कंटोला, जिसे ककोड़ा भी कहते हैं, एक लोकप्रिय पौष्टिक सब्जी है जिसकी खेती पूरे भारत…

1 week ago

तुलसी को करो 2 रू में बरगद जैसा हरा भरा घना

तुलसी का पौधा एक ऐसा पौधा हो जो लगभग भारत देश में रहने वाले हिन्दू…

2 weeks ago

भारत में सबसे तेजी से बढ़ने वाले पेड़: गतिशीलता और प्रकृति का चमत्कार

भारत, जो विविधता और प्राकृतिक समृद्धता के लिए विख्यात है, यहाँ के वनस्पति जीवन का…

2 weeks ago

गुड़हल के पौधे में फूलों की होगी बहार, मानसून की शुरुआत में करें ये काम

मानसून की बारिश न सिर्फ धरती को हरा-भरा कर देती है, बल्कि यह गुड़हल के…

2 weeks ago

कोकोपीट में लगाएं गुलाब हमेशा रहेगा फूलों से लदा

गुलाब (Rose) के फूल को कौन नहीं जनता यह पौधा अपनी सुंदरता और खुशबू के…

3 weeks ago

गार्डन में इस समय लगाएं अदरक, और ले ज्यादा पैदावार

सर्दियों के दिनों में अदरक वाली चाय का स्वाद ही कुछ और होता है जो…

3 weeks ago